Send by emailPDF versionPrint this page
अपने बारे में

केंद्रीय रेशम उत्‍पादन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्‍थान (कें रे अ प्र सं), मैसूर जो उष्‍णकटिबंधीय रेशम उत्‍पादन क्षेत्र में अग्रणी अनुसंधान संस्‍थान है, देश में रेशम उद्योग के समग्र विकास के लिए केंद्रीय रेश्‍ाम बोर्ड, वस्‍त्र मंत्रालय, भारत सरकार के प्रशासनिक नियंत्रणाधीन वर्ष 1961 में चन्‍नपट्टणा में संस्‍थापित हुआ । विकास के चलते वर्ष 1963 में इस संस्‍थान को राजसी शहर मैसूरु में स्‍थानांतरित किया गया । कुछ ही वर्षों में यह संस्‍थान उत्‍कृष्‍ट केंद्र के रूप में पूर्ण रूपेण विकसित हुआ और इसने  रेशम उत्‍पादकता एवं गुणवत्‍ता बढ़ाने हेतु उल्‍लेखनीय समर्थन प्रदान किया जिससे कृषकों के लिए अधिक आय प्राप्‍त होना सुनिश्‍चित हुआ ।

 
कें रे अ प्र सं, मैसूरु, मैसूरु नगर के दक्षिणी प्रांत में रेलवे स्‍टेशन से करीब 8 कि मी की दूरी पर एच डी कोटे - मानंदवाडी रोड पर स्‍थित है । दक्षिण भारत के एक मुख्‍य अध्‍ययन केंद्र के रूप में मैसूरु का सुविख्‍यात इतिहास है । मैसूरु विश्‍वविद्यालय के अंतर्गत उन्‍नत अध्‍ययन केंद्र होने के साथ-साथ इस नगर में अंतर्राष्‍ट्रीय ख्‍याति के कुछ शैक्षणिक एवं अनुसंधान संस्‍थान भी हैं । 
 

 

मैसूरु समुद्र तल से 759.9 मीटर (2492 फुट) ऊँचाई पर 12.180 उ अक्षांश एवं 76.420 पू रेखांश पर स्‍थित है । मैसूरु में 710  मि मी औसतन वर्षा होती है और तापमान 330  से और 180  से के बीच रहता है । यह प्रमुख नगरों के साथ रेल और सडक मार्ग से जुडा हुआ है । निकटस्‍थ हवाई अड्डा बेंगलूर  (कर्नाटक की राजधानी) में स्‍थित है जो कि 140 कि मी की दूरी पर है ।