Send by emailPDF versionPrint this page
जैव प्रौद्योगिकी विभाग परियोजनाएँ

सं . परियोजना  लक्ष्य
   
1.
एंडोफाइटिक बैक्टीरिया बुर्खोल्डेरिया सेपेसिया और बैसिल्लस सब्टिलिस प्रभेदों द्वारा फफूंदी मूल  रोगाणुओं के विरुद्ध बुर्खोल्डेरिया विगलन रोग का जैव नियंत्रण 
1. शहतूत के फफूदी मूल विगलन सेपैसिया और बैसिल्लस सबटिल्लस  प्रभेदों का चयन एवं मूल्यांकन
2. फफूँद विरुद्ध यौगिकों को उत्पादित   करके  प्रतिरोध शक्ति उत्पन्न करने  हेतु जीवाणु संख्या निर्धारण   
3. शहतूत के मृदा जनित फफूँदजनक  रोगाणुओं के विरुद्ध प्रभावी प्रभेदों   का उपयोग
2.
कोर एस्सेम्ब्लि के लिए शहतूत जीन बैंक का डी एन ए चिह्नक विश्लेषण करना जिससे कि   में बेहतर ढंग से उपयोग किया जा सके   (केंजअकें, होसूर के सहयोग से)  
1. चिह्नकों के सहारे विश्लेषण द्वारा  एसोसिएशन मानचित्र से संबद्ध सुधार  विविध शहतूत जननद्रव्य पैनल को पहचानना
2. फीनोटाइपिक एवं आण्विकी चिह्नक (एसेएसआर एवं एफएलपी) विश्लेषण   द्वारा शहतूत जननद्रव्य कोर सब  सेट बनाना  
3.अन्य महत्वपूर्ण लक्षण यथा अंकुरण, जीर्णता ,मूलोत्पत्ति, पत्ती गुणवत्ता, पैदावार  को प्रभावित करने वाले विशेषक  और  आकृतिक लक्षणों के लिए विविध  जननद्रव्य  पैनल का मूल्यांकन-  केरेउजअकें, होसूर    
3.
अधिक उत्पादक द्विप्रज द्विसंकर को   कर्नाटक के कृषकों के बीच लोकप्रिय बनाना । 
 द्विसंकर को श्रीरंगपटना ताल्लुक, माण्ड्या के  कृषकों के बीच लोकप्रिय बनाना