Send by emailPDF versionPrint this page
रेशमकीट संरक्षण

अधिदेश:
  • रेशमकीट रोग एवं पीडक प्रबंधन हेतु प्रौद्योगिकियाँ/प्रणालियाँ विकसित करना ।
  • पूर्व सूचना प्रणाली विकसित करने हेतु रोगों एवं पीडकों का सर्वेक्षण करना ।
  • बीज गुणन केंद्रों को रोग अनुवीक्षण समर्थन प्रदान करना ।
  • पोषीपादप और रेशमकीट पीडकों के जैव नियंत्रण कारकों का अनुरक्षण, गुणन एवं आपूर्ति करना ।
  • शहतूत फसल प्रणालियों में परजीव्याभों और परभक्षियों के परिरक्षण एवं निष्पादन पर फसल विविधता का प्रभाव – प्राकृतिक वास पर अध्ययन करना ।
  • शहतूत में ऊजी मक्खी, भीम घोंघा और पपीता मीलीबग के लिए मूल्यांकन करना/प्रबंधन कार्यनीतियाँ अपनाना । 
  • एन्‍ज़ाइम जीनों का उपयोग करते हुए सूक्ष्माणु रोग के चिकित्सीय नियंत्रण पर अध्ययन करना ।
  • रेशमकीट फसल नाश के लिए जिम्मेदार कारकों पर अध्ययन ।
  • जीवाणु रोगों के लिए प्रोबयोटिक जीवाणु की पहचान ।
वैज्ञानिक:
 
नाम   पदनाम
   
डॉ एम बालवेंकट्टसुब्बय्या  वैज्ञानिक डी
डॉ ए वी मेरी शेरी(जोसफा  वैज्ञानिक डी
श्री जे बी नरेंद्र कुमार   वैज्ञानिक डी
डॉ ए आर नरसिंह नायका  वैज्ञानिक डी
Dr. Mallikarjuna Gadwala  वैज्ञानिक-बी